आधे घंटे की प्रेस वार्ता में 14 बार नीतीश कुमार का नाम! ये ‘राष्ट्रऋषि’ का प्रेम है या…?

कहा जाता है कि चोर की दाढ़ी में तिनका। यदि गठबंधन इतना ही फेविकोल के जोड़ टाइप अटूट था, तो उसे इतनी बार सफाई देने की क्या जरूरत थी?

Read More

चुनावीबिहार-2: सौ लुकार, एक लबार, हवाई सौगात झारमझार

लालू प्रसाद को खुद उनके बेटे ने वनवास दे दिया है। कोर्ट भले ही उनको अक्टूबर के अंत में रिहा करने को तैयार हो गया है, लेकिन तेजस्वी ने अभी ही उनको मुक्त कर दिया है। आरजेडी के पोस्टर्स में इस बार उनके सबसे बड़े आइकन लालू प्रसाद यादव मौजूद नहीं हैं।

Read More

स्कूली शिक्षा के विशेष संदर्भ में नयी शिक्षा नीति की एक अनुभवजन्य समीक्षा

स्कूली शिक्षा के तमाम प्रावधानों में जो मुझे सबसे बेहतर लगता है वह यह कि अब प्री-स्कूलों के विकास पर जोर दिया जाने वाला है। यह एक बेहतरीन कदम है क्योंकि हमारे सरकारी स्कूलों में आने वाले अधिकांश बच्चे ऐसी पृष्ठभूमि से आते हैं जिनके घर पर या आस-पास के माहौल में पढ़ने का उचित वातावरण नहीं मिल पाता है।

Read More