जेल में बंद बीमार कवि वरवर राव के परिवार ने सरकार से लगायी उनका जीवन बचाने की गुहार

हम सरकार को याद दिलाना चाहते हैं कि उसे किसी भी व्यक्ति को जीवन के अधिकार से वंचित करने का कोई अधिकार नहीं है, एक विचाराधीन बन्दी को तो बिल्कुल ही नहीं।

Read More

“जेल में मैंने योग दिवस कैसे बिताया?” एक पत्रकार के संस्मरण

पिछले साल 2019 में आज के दिन मैं बिहार के शेरघाटी उपकारा में बतौर विचाराधीन कैदी बंद था। एक दिन पहले ही जेल में साफ-सफाई अभियान शुरु हो चुका था, जिसे देखकर मुझे अंदाजा हो गया था कि यह सब योग दिवस की ही तैयारी है।

Read More