…वरना इतिहास कांग्रेस को अपने पन्नों में समेट लेगा!

राहुल गांधी क्रमशः नेहरू की ओर लौटते हुए नज़र आ रहे हैंं। नेहरू जैसी ही संयम भाषा और समस्याओं पर वैज्ञानिक दृष्टि उनमें परिलक्षित अवश्य हो रही है पर जब तक प्रतिबद्ध कार्यकर्ता, प्रशिक्षित नेता और विचारवान नेतृत्व नही रहेगा, सिंधिया और पायलट जैसे लोग ही पैदा होंगे जिन्हें पार्टी में बनाये रखने में ही पूरी ऊर्जा खर्च करनी पड़ेगी।

Read More