किसानों से शुरू होकर यह आन्दोलन सिर्फ़ किसानों का नहीं रह गया है!

यह आवश्यक है कि आन्दोलन लम्बे समय तक डटा रहे और चुनावों पर भी वांछित प्रभाव डाले. अपने तात्कालिक हितों और उद्देश्यों की प्राप्ति के लिए भी आन्दोलन को राजनैतिक तौर पर कुशल और सचेत होना पड़ेगा. इसके लिए यह भी आवश्यक है कि फ़ासीवाद और सम्प्रदायवाद की विरोधी जनपक्षधर शक्तियाँ भी किसान आंदोलन से सीख लें और राजनैतिक सूझ-बूझ का परिचय दें.

Read More

बंकर में ट्रम्प और दुनिया भर में धुर दक्षिणपंथी नज़रिये की खुलती कलई

यह घटना एक संकेत अवश्य है कि वहां पर ट्रम्प उस तरह से अजेय नही हैं जैसा कि अपने हाव भाव से वे जाहिर करते हैं

Read More