UP: 102, 108 और एडवांस लाइफ़ सपोर्ट एम्बुलेंस सेवा ठप, हड़ताल पर हजारों कर्मी, 700 से ज्यादा बर्खास्त

एंबुलेंस कर्मियों के हड़ताल पर सरकार ने भी सख़्त रवैया अपना रखा है। सरकार की सख़्ती को देखते हुए एंबुलेंस संचालन करने वाली कंपनी जीवीके ईएमआरआई ने एंबुलेंस संघ के प्रदेश अध्यक्ष व अन्य पदाधिकारियों समेत 14 कर्मचारियों को बर्खास्त कर दिया है।

Read More

‘दुनिया के मजदूरों एक हो’, लेकिन कैसे? भारत में श्रम के परिदृश्य पर एक नज़र

कोरोना से बचाव की हमारी यह कोशिशें हमारी आर्थिक गतिविधियों के स्वरूप में व्यापक और कई क्षेत्रों में तो आमूलचूल परिवर्तन ला रही हैं। नयी कार्य संस्कृति तकनीकी के प्रयोग द्वारा एक ऐसी व्यवस्था बनाने की वकालत करती है जिसमें ह्यूमन इंटरफेस न्यूनतम हो। ऐसे में तकनीकी का प्रयोग धीरे-धीरे मनुष्य की भूमिका को नगण्य और गौण बना देगा।

Read More

नवदीप कौर को मिली ज़मानत, शिव कुमार की सरकारी मेडिकल रिपोर्ट में गंभीर जख्मों के सुराग

नवदीप के साथ गिरफ्तार हुए मजदूर अधिकार कार्यकर्ता शिव कुमार की मेडिकल रिपोर्ट आयी है जिसमें बताया गया है कि उनके शरीर में दो फ्रैक्‍चर हैं। चंडीगढ़ के सरकारी मेडिकल कॉलेज द्वारा की गयी जांच में पाया गया है कि शिव कुमार के हाथ और पैर में दो फ्रैक्‍चर हैं और पैरों के कुछ नाखून उखड़े हुए हैं।

Read More

मजदूर संगठन कार्यकर्ता पर हिरासत में यौन हिंसा और गिरफ्तारी की निंदा, रिहाई की मांग: CASR

नवदीप कौर 24 वर्ष की दलित राजनीतिक कार्यकर्ता हैं जो मजदूर अधिकार संगठन के साथ कुंडली के क्षेत्र में काम करती हैं। उन्‍हें बीती 12 जनवरी को किसान आंदोलन के बीच से हरियाणा पुलिस उठा कर ले गयी थी और उनके ऊपर दो मुकदमे कायम किये थे। फिलहाल उन्‍हें करनाल जेल में भेजा गया है।

Read More

UP में AIPF ने किया किसान-मजदूर विरोधी कानूनों का विरोध

किसान विरोधी तीन कानूनों और मजदूर विरोधी श्रम संहिताओं को वापस लेने की मांग पर आयोजित अखिल भारतीय विरोध दिवस के तहत गुरुवार को ऑल इंडिया पीपुल्स फ्रंट के कार्यकर्ताओं ने पूरे उत्‍तर प्रदेश में विरोध प्रदर्शन कर महामहिम राष्ट्रपति को पत्रक भेजा।

Read More

जाति, पूंजी और सम्प्रदाय के हाथाें कैसे उजड़ गयी पूर्वांचल की समाजवादी ज़मीन: कुछ संस्मरण

यह लेख कुछ घटनाओं और संस्मरणों के माध्यम से पिछले दो दशकों के पूरब के बदलते आर्थिक और राजनीतिक परिदृश्य को समझने की एक कोशिश है। साथ ही प्रशासन और …

Read More

नेशनल लॉ युनिवर्सिटी में ठेका मजदूरों से अन्याय के मुद्दे पर मौन शैक्षिक बिरादरी से कुछ सवाल

शैक्षिक समुदाय का क्या दायित्व बनता है, विशेष रूप से एक विधि विश्वविद्यालय में उसकी स्थापना के वर्ष 2008 से कार्यरत सफाई कर्मचारियों को यदि ठेका परिवर्तन के चलते निष्ठुरता …

Read More