लॉकडाउन उल्लंघन में मजदूरों पर हुए केस वापस लेने के लिए गुजरात के मुख्यमंत्री को पत्र


सेवा में,
माननीय मुख्यमंत्री जी
गुजरात

विषय- लॉकडाउन उल्लंघन के केस वापस लेने व पुलिस द्वारा बल प्रयोग ना करने के आदेश देने के संबंध में

महोदय देश कोरोना की महामारी से जूझ रहा हैं। सरकार इस महामारी के प्रसार को रोकने के लिए कई कदम उठा रही है, जिनमें से एक लॉकडाउन है। इस लॉकडाउन के अमलीकरण कार्यान्वयन के लिए सबसे महत्वपूर्ण जिम्मेदारी सर्वप्रथम लोगों की है और फिर प्रशासन में पुलिस विभाग की है। महोदय, हम जानते हैं कि हमारे राज्य, गुजरात में बड़ी संख्या में लोग दिहाड़ी मज़दूरी पर जीविकोपार्जन कर रहे हैं। जब तालाबंदी हुई, तब इन गरीब लोगों को 14 दिनों तक खाना बनाने और खाने के लिए घर में जीवन जीने के लिए आवश्यक वस्तुओं का पर्याप्त भंडार/संग्रह नहीं था, साथ ही पुलिस विभाग की महत्वपूर्ण ज़िम्मेदारी लॉक डाउन का पालन सुनिश्चित कराना कि लोग महामारी को रोकने के लिए अपने घरों को न छोड़ें।

इस स्थिति ने लोगों के लिए कई मुश्किलें पैदा कर दी हैं। व्यापार और रोजगार के स्रोत बंद हो जाने के कारण लोगों की स्थिति गंभीर हो गई है। दूसरी ओर, गुजरात में काम करने के लिए अन्य जिलों या राज्यों से आए लोग बेरोजगार हो गए हैं। उसी समय, वे मज़दूर अपने गृह जिले या राज्य में जाने के लिए जल्दबाज़ी में घर जाना चाहते हैं, हम देखते हैं कि लोग कानूनी रूप से या अवैध रूप से घर जाने के लिए पैदल या अन्य कोई भी साधन जैसे माल वाहक ट्रक आदि जो भी उन्हें मिल सकता है से चले जा रहे हैं।

ऐसे मुश्किल समय में, राज्य के कई हिस्सों में पुलिस और लोगों के बीच झड़प की खबरें हैं। अखबार की रिपोर्टों के अनुसार, पुलिस तंत्र से उन लोगों की झड़पें हुई जो अपने घर जा रहे थे, जाने की मांग कर रहे थे, या तो जीवन की आवश्यकता की चीजें खरीद रहे थे या सब्जी या फल बेचकर जीवनयापन कर रहे थे। इन लोगों पर आपराधिक अपराधों की धारा व डिजास्टर मैनेजमेंट एक्ट के तहत मामला दर्ज कर तंत्र ने कार्यवाही शुरू की| कई मामलों में, यह देखा गया है कि 307 जैसा गंभीर मामले भी लोगों पर लगाये गये हैं, जैसे कि ये लोग जो सब्जी या फल बेचते हे, घर जाने या घर भेजने की मांग करते हें ये लोग आदतन अपराधी हों।

उपरोक्त स्थिति के मद्देनजर, हम आपसे विनम्रतापूर्वक अनुरोध करते हैं कि सरकार उन गरीबों और आम लोगों के खिलाफ मुकदमों को वापस लें, जिनपर तालाबंदी के दौरान अपने घरों को जाते हुए या दैनिक आवश्यकताओं या सब्जियों और फलों के व्यापार करते हुए मुक़दमा दर्ज हुआ है व पुलिस पिटाई के कारण जो लोग ऐसे लोग गंभीर रूप से घायल हो गए हैं उन्हे उचित इलाज मिले व पुलिस को सावधानी बरतने के आदेश करें कि अपरिहार्य स्तिथि में भी लिखित अनुमति के बिना किसी को भी नहीं पीटा जाए, साथ ही क़ानून व्यवस्था संभालने वाले सभी कर्मचारी/अधिकारी वर्दी में और नेम प्लेट में रहकर अपना कर्तव्य निभाएं।

आपका,

मुजाहिद नफ़ीस
मोब- 9328416230 ईमेल- mccgujarat@gmail.com

सूचनार्थ प्रेषित-

माननीय उप मुख्यमंत्री श्री, गुजरात राज्य
माननीय नेता विपक्ष श्री, गुजरात राज्य
माननीय गृह राज्यमंत्री श्री, गुजरात राज्य


5 Comments on “लॉकडाउन उल्लंघन में मजदूरों पर हुए केस वापस लेने के लिए गुजरात के मुख्यमंत्री को पत्र”

  1. Hey there! This is kind of off topic but I
    need some guidance from an established blog. Is it tough
    to set up your own blog? I’m not very techincal but
    I can figure things out pretty fast. I’m thinking
    about setting up my own but I’m not sure where to start. Do
    you have any tips or suggestions? Many thanks

  2. you are in reality a just right webmaster. The website loading
    pace is amazing. It sort of feels that you are doing any distinctive trick.
    Moreover, The contents are masterpiece. you’ve performed a great process in this matter!

  3. Hi! I could have sworn I’ve been to this web site before but after
    going through a few of the posts I realized it’s new to me.

    Regardless, I’m certainly pleased I stumbled upon it and I’ll
    be bookmarking it and checking back regularly!

  4. Pretty section of content. I just stumbled upon your
    web site and in accession capital to assert that I get in fact enjoyed account your blog posts.
    Anyway I’ll be subscribing to your feeds and even I achievement you
    access consistently quickly.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *