रेलवे ने कहा पहले से बीमार थे दशरथ-रामरतन, रिहाई मंच ने कहा हत्या का मुकदमा दर्ज हो


मुंबई से चलकर बुधवार सुबह वाराणसी के मंडुवाडीह स्टेशन पर पहुंची श्रमिक स्पेशल ट्रेन से बरामद दो लाशाें के सम्बंध में रेलवे ने एक आधिकारिक बयान जारी करते हुए कहा है कि दोनों ही व्यक्ति पहले से बीमारी से ग्रस्त थे जिसके कारण उनकी मौत हुई। वहीं प्रवासी मजदूरों की सेवामें लगे क्षेत्रीय संगठन रिहाई मंच ने एक बयान जारी कर के रेल मंत्री पर इन मौतों के लिए मुकदमा दर्ज करने की मांग उठायी है।

मुंबई से बनारस पहुंची श्रमिक ट्रेन से निकली दो लाशें, मृतक जौनपुर और आज़मगढ़ के निवासी

रिहाई मंच ने श्रमिक ट्रेनों को मजदूरों की अर्थी कहते हुए रेल मंत्री पीयूष गोयल को जिम्मेदार ठहराते हुए मुकदमे की मांग की और प्रत्येक मृतक श्रमिक को पांच-पांच करोड़ रुपये देने की मांग की है। मंच ने मृतक प्रवासी मजदूरों के प्रकरण पर एक दल का गठन किया है जो मृतकों के परिजनों से मिल कर हर संभव मदद करने की कोशिश करेगा।

रिहाई मंच के महासचिव राजीव यादव ने कहा कि यह लापरवाही नहीं अपराध है। रेल मंत्रालय दोषी है। जिम्मेदार लोगों पर तत्काल हत्या का मुकदमा दर्ज किया जाए। आजमगढ़, जौनपुर समेत पूर्वांचल के मजदूरों की लाशें बताती हैं कि पैदल चले न जाने कितने मजदूर बहन-भाई मौत का शिकार हो गये होंगे जिनके बारे में हमें पता ही नहीं। मीडिया के सूत्रों से तीन सौ से अधिक मजदूरों की मौतों की सूचनाएं आ रही हैं।

उधर रेलवे ने इसे सामान्य लापरवाही भी नहीं माना है। रेलवे ने जो बयान जारी किया है, उसमें मृतकों के बारे में कहा गया है किः

“लोकमान्य तिलक टर्मिनल से मंडुवाडीह गाड़ी सं 01770 श्रमिक स्पेशल जो प्रातः 8:21 बजे मंडुवाडीह पहुंची इसमें राजकीय रेलवे पुलिस को दो व्यक्ति मृत मिले जिसकी सूचना उन्होंने स्टेशन अधीक्षक को 9:20 पर दी। स्टेशन अधीक्षक ने जिला प्रशासन एवं रेलवे प्रशासन को अवगत कराया जिसके उपरांत मंडल चिकित्सालय से चिकित्सक मंडुवाडीह पहुंचे और मृतकों की जांच की और पाया कि मृत श्रमिक पहले से गंभीर बीमारियों से ग्रस्त थे। मृत घोषित करने के उपरांत उन्हें राजकीय रेलवे पुलिस को अग्रिम कार्यवाही हेतु सुपुर्द कर दिया गया। श्रमिक स्पेशल के एस-15 कोच में मिला पहला मृतक 30 वर्षीय दिव्यांग – दशरथ प्रजापति पुत्र जगन्नाथ, ग्राम-पुरालाल थाना-बदलापुर जिला जौनपुर का निवासी है जो पहले से लकवाग्रस्त था और अपने किडनी के फोड़े का इलाज मुम्बई में करवा रहा था। एसएलआर कोच में मिला दूसरा मृतक 63 वर्षीय राम रतन गौड़ पुत्र स्व. रघुनाथ ग्राम-शरहदपार पोस्ट-हाजीपुर थाना- रौनापार जिला आजमगढ़ का निवासी था और कई बीमारियों से जूझ रहा था। जीआरपी चौकी प्रभारी मंडुवाडीह श्री बी एस यादव के अनुसार मृतकों के परिजनों को बुलाया गया है और पोस्टमार्टम के बाद शव उनको सुपुर्द कर दिया जाएगा।”


7 Comments on “रेलवे ने कहा पहले से बीमार थे दशरथ-रामरतन, रिहाई मंच ने कहा हत्या का मुकदमा दर्ज हो”

  1. Hi! Someone in my Facebook group shared this site with us so I came to give it a look.

    I’m definitely loving the information. I’m book-marking and will be tweeting this to
    my followers! Outstanding blog and superb style and design.

  2. Fantastic items from you, man. I’ve consider your stuff previous to and you’re just
    extremely excellent. I actually like what you’ve bought right
    here, really like what you’re saying and the best way through which you say it.
    You are making it entertaining and you still take care
    of to keep it sensible. I cant wait to read much more from you.

    This is really a wonderful web site.

  3. Howdy! This blog post could not be written any better!

    Reading through this post reminds me of my previous roommate!

    He always kept talking about this. I most certainly will send this post to him.
    Pretty sure he will have a good read. Thank you for sharing!

  4. Today, I went to the beachfront with my children. I found a sea shell and gave it to my
    4 year old daughter and said “You can hear the ocean if you put this to your ear.” She placed the
    shell to her ear and screamed. There was a hermit crab inside and it pinched her
    ear. She never wants to go back! LoL I know this is
    totally off topic but I had to tell someone!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *